home page

Sugar Price Hike : चीनी की कीमत ने तोड़ा 12 साल पुराना रिकॉर्ड, जाने अब कितने रुपये किलो बिकेगी चीनी

Sugar Price :देश में महगांई लगातार बढ़ती जा रही है जिसका असर आम आदमी के बजट पर पड़ता है, इशस बार चीनी की कीमतों ने 12 साल पुराना रिकार्ड तोड़ दिया.......

 | 
SUGAR

Newz Funda, New Delhi डिमांड और सप्लाई में उतार चढ़ाव के कारण चीनी की कीमते बढ़ गई है. इसने 12 साल का रिकार्ड तोड दिया है. भारत और थाईलैंड को सुखे और कृषि में बदलाव के कारण चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.

इसके विपरित ब्राजील के मजबूत चीनी उत्पादन के कारण इसकी कीमतों पर प्रभाव पड़ रहा है. भारत सुखे के कारण प्रभावित है और ब्राजील भारी बारिश के कारण.  अंतर्राष्ट्रीय चीनी संगठन ने आगामी सीजन में चीनी की कीमतों में बढ़ोतरी की संभावना जताई है.  

डिमांड और सप्लाई में तार-चढ़ाव के कारण चीनी की कीमतें 12 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं। भारत और थाईलैंड को सूखे और कृषि प्राथमिकताओं में बदलाव के कारण चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है,

बता दें उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक मंगलवार को देश में चीनी का अधिकतम मूल्य 70 रुपये और न्यूनतम 36 रुपये था। चीनी का मॉडल मूल्य 42 रुपये किलो और औसत रेट 43.74 रुपये प्रति किलो रहा।

उत्पादक देशों में चीनी उत्पादन में कमी को लेकर चिंताएं

अजय केडिया ने बताया है कि आपूर्ती और मांग की गतिशीलता को देखते हुए नोट किया गया है कि चीनी की कीमतों ने 12 साल पुराना रिकार्ड तोड़ा है. चीनी बजार के दो प्रमुख देश भारत और थाईलैंड सुखे और बदलती कृषि प्राथमिकताओं से जुझ रहा है. 

खराब मानसून सीजन के कारण भारत और थाईलैंड चीनी की आपुर्ति पक्ष में अपना योगदान दे रहे हैं. 

ब्राजील का क्या होगा हाल

ब्राजिल भी चीनी उत्पादन की कीमतों पर मंदी कारक के रुप में कान कर रहा है. देश में गन्ने के बढ़ते आवंटन और अनुकूल मौसम स्थितियों के परिणामस्वरुप चीनी की पर्याप्त उत्पादन हुआ है. 

अल नीनो मौसम पैटर्न का संभावित प्रभाव वैश्विक चीनी उत्पादन को और बाधित कर सकता है,  क्योंकि यह भारत में सुखा और ब्राजील में भारी बारिश लाता है, जिससे फसल प्रभावित होती है. 

इसके अलावा आईएसओ ने आने वाले सीजन में चीनी घाटे की भविष्यवाणी की है. बताया जा रहा है कि चीनी बाजार में कीमतों में लगातार उतार चढ़ाव देखने को मिल सकता है.