home page

भारत में सेमीकंडक्टर प्लांट लगाएगी माइक्रोन, 5000 डायरेक्ट नौकरियां मिलेंगी !

Micron semiconductor plant in India: अमेरिकी की चिप मेकर कंपनी माइक्रोन ने अब भारत में अपना पहला सेमीकंडक्टर प्लांट लगाने का ऑफिशियल ऐलान कर दिया है। कंपनी भारत में पहला प्लांट गुजरात में लगाना चाहती है जो 2024 के आखिरी तक ऑपरेशनल होगा।
 | 
भारत में सेमीकंडक्टर प्लांट लगाएगी माइक्रोन, 5000 डायरेक्ट नौकरियां मिलेंगी !  

Newz Funda, New delhi | Micron semiconductor plant in India: अमेरिकी की चिप मेकर कंपनी माइक्रोन ने अब भारत में अपना पहला सेमीकंडक्टर प्लांट लगाने का ऑफिशियल ऐलान कर दिया है। प्लांट के लिए यह कंपनी दो फेज में करीब 6,700 करोड़ रुपए (825 मिलियन डॉलर) का इन्वेस्टमेंट करने जा रही है। कंपनी भारत में पहला प्लांट गुजरात में लगाना चाहती है जो 2024 के आखिरी तक ऑपरेशनल होगा।

टोटल 2.75 बिलियन डॉलर का निवेश होगा
माइक्रोन का कहना है वे गुजरात में नई सेमीकंडक्टर असेंबली और टेस्ट प्लांट लगाएगी। भारत की केंद्र सरकार और गुजरात सरकार की मदद से इस प्लांट में पूरा निवेश 2.75 बिलियन डॉलर (लगभग 22,540 करोड़ रुपए) तक होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने माइक्रोन टेक्नोलॉजी को इनवाइट किया था ताकि देश में सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा मिले और कहा कि देश सेमीकंडक्टर सप्लाई चैन के विभिन्न हिस्सों में प्रतिस्पर्धी लाभ प्रदान करेगा।

सरकार ने माइक्रोन के प्लांट को मॉडिफाइड असेंबली, टेस्टिंग, मार्किंग और पैकेजिंग (ATMP) स्कीम के जरिए मंजूरी दी है। इस स्कीम के तहत, केंद्र सरकार से माइक्रोन को टोटल प्रोजेक्ट कॉस्ट के लिए 50% और गुजरात राज्य से 20% प्रोत्साहन वित्तीय सहायता मिलेगी।

5,000 नई डायरेक्ट नौकरियां पैदा होंगी
गुजरात में फैसिलिटी का कंस्ट्रक्शन माइक्रोन द्वारा 2023 में शुरू करने की उम्मीद है और इस प्रोजेक्ट का पहला फेज 2024 के आखिर में शुरू होगा। वहीं, इसका दूसरा फेज दशक के दूसरे भाग में शुरू होने की उम्मीद है। कंपनी ने पुष्टि की है कि इससे अगले कई सालों में 5,000 नई डायरेक्ट नौकरियां और 15,000 कम्युनिटी नौकरियां मिलेंगी।

कंपनी ने कहा है, 'माइक्रोन का नया प्लांट DRAM और NAND दोनों प्रोडक्ट्स के लिए असेंबली और टेस्ट मैन्युफैक्चरिंग की सुविधा होगी, यह घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजारों से मांग को भी पूरा करेगी'।


IT और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा
IT और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, 'भारत में असेंबली और टेस्ट मैन्युफैक्चरिंग लगाने के लिए माइक्रोन का निवेश मूल रूप से भारत के सेमीकंडक्टर लैंडस्केप को बदल देगा और हजारों हाई-टेक और कंस्ट्रशन जॉब्स पैदा करेगा। यह निवेश देश के उभरते सेमीकंडक्टर इकोसिस्टम में एक महत्वपूर्ण बिल्डिंग ब्लॉक साबित होगा।'

भारत में एप्लाइड मैटेरियल्स को भी इनवाइट किया
अमेरिका के दौरे पर PM मोदी ने एप्लाइड मैटेरियल्स को इनवाइट किया ताकि प्रोसेस टेक्नोलॉजी और ए़डवांस पैकेजिंग क्षमताओं का विकास हो। उन्होंने एप्लाइड मैटेरियल्स के CEO गैरी ई डिकर्सन और प्रेजीडेंट के साथ अपनी मीटिंग के दौरान स्किल्ड वर्कफोर्स बनाने के लिए भारत में शैक्षणिक संस्थानों के साथ कंपनी के सहयोग की क्षमता पर चर्चा की है।

सेमीकंडक्टर प्रोडक्शन को बढ़ावा दे रही सरकार
सरकार द्वारा देश में सेमीकंडक्टर को प्रोत्साहन देने लिए PLI स्कीम की भी घोषणा की है। सेमीकंडक्टर के लिए लगभग ग्लोबल कंपनियां भारत को एक इंवेस्टमेंट डेस्टिनेशन के रूप में देख रही हैं। 2021 में भारतीय सेमीकंडक्टर मार्केट की वैल्यू 27.2 बिलियन डॉलर थी और सालाना यह 19% तक बढ़ रही है । इस बढ़ोतरी के साथ इसके 2026 तक 64 बिलियन डॉलर होने की संभावना है।