home page

आचार्य के अनुसार महिलाएं भी करती है ऐसे काम, सुनकर हैरान हो जाएंगे आप !

Chanakya niti on womens: आचार्य चाणक्य को व्यापार से लेकर राजनीती तक के क्षेत्र का भरपूर ज्ञान था. आज भी लोग उनके दिए गए उपदेशो के मार्ग पर चलते है. जानिए स्त्रियों पर आचार्य का क्या कहना है...
 | 
आचार्य के अनुसार महिलाएं भी करती है ऐसे  काम, सुनकर हैरान हो जाएंगे आप !

Chanakya niti on womens: आचार्य चाणक्य को व्यापार से लेकर राजनीती तक के क्षेत्र का भरपूर ज्ञान था. आज भी लोग उनके दिए गए उपदेशो के मार्ग पर चलते है. आज की अत्यंत आधुनिक दुनिया में भी  कौटिल्य नीति और उसमें लिखे प्रत्येक शब्दों को लोग पढ़ते ही नहीं उनका पालन भी करते है.

चाणक्य निति आपको हर क्षेत्र में सफलता हासिल करने में मदद करती है. चाणक्य के निति शास्त्र में महिलाओं की इच्छा से जुडी बात का उल्लेख किया गया है जिसका हम आज ज़िक्र करेंगे.

स्त्री-पुरुष के बारें में बताया (Chanakya niti on womens)

आचार्य ने स्त्री-पुरुष की तुलना पर रखे अपने विचार. उनका कहना है की पुरुषों से दो गुना ज्यादा होती है महिलाओं की भूख. (Chanakya niti on womens)मूल रूप से चाणक्य निति संस्कृत में लिखी गई थी जिसे अंग्रेजी-हिंदी के साथ अन्य भाषाओँ में भी अनुवादित किया गया.

आचार्य ने अपनी नीतियों में हमेशा महिलाओं को पुरुषों के बराबर दर्जा दिया है. उनका कहना है की महिलाएं हमेशा चेतना में रहती है.

आचार्य ने अपनी राजनीती में नारी की भूख, लज्जा, अर्थ, लज्जा, साहस और वासना का वर्णन किया है.(Chanakya niti on womens) इस उपरोक्त श्लोक में नारी शक्ति का वर्णन किया गया.

आचार्य के अनुसार पुरुषो की तुलना में महिलाओं को 2 गुना ज्यादा भूख लगती है. लेकिन वे डाइट और लाइफस्टाइल के बिच में बाधित होकर अपनी भूख को कंट्रोल में रखती है.

आचार्य के अनुसार महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले शर्मिंदगी चार गुना अधिक होती है.(Chanakya niti on womens) वे अकसर कुछ कहने से पहले सोचती हैं.

आचार्य के अनुसार महिलाओं में शुरू से ही साहस होता है. माना जाता है की वे पुरुषों की तुलना में छह गुना बहादुर होती हैं. नारी अपनी शक्ति समय आने पर ही दिखाती है.

आचार्य का कहना है की महिलाओं की कामेच्छा पुरुषों से ज्यादा होती है. माना जाता है की महिलाएं में काम की इच्छा आठ गुना ज्यादा होती है. महिलाओं में सहनशीलता के साथ शर्म भी होती है.(Chanakya niti on womens) कोई भी महिला अपने व्यवहार का खुलासा नहीं करती क्यूंकि वे अपने संस्कारों का भी ध्यान  रखकर मौन रहना पसंद करती है.