home page

बेटी 22 साल में ही पापा का सपना पूरा कर बन गईं IPS, दूसरों के लिए मिसाल हैं Pooja Awana

IPS Pooja Awana की सक्सेस स्टोरी से आपको परिचित करवा रहे हैं।

 | 
sfd

Newz Funda, New Delhi संघ लोक सेवा आयोग यानी यूपीएससी की परीक्षा को सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है।

जिसको पास करना कोई बच्चों का काम नहीं है। इसे कोई होनहार ही पास कर अपने सपनों को पंख लगा सकता है।

sfda

लेकिन अगर हौसला बुलंद हो और कड़ी मेहनत की जाए तो इसे आसानी से न केवल पास किया जा सकता है।

बल्कि दूसरों को भी सीख दी जा सकती है। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है एक होनहार बेटी ने।

dfs

ऐसी ही एक महिला अफसर हैं, जिनका नाम है पूजा अवाना।

जिन्‍होंने यूपीएससी एग्जाम में 316वीं रैंक हासिल की थी और ये करिश्‍मा पूजा ने सिर्फ 22 साल की उम्र में किया था।

जानते हैं उनकी सक्‍सेस स्‍टोरी के बारे में। जिनसे दूसरी बेटियां भी प्रेरणा ले सकती हैं।

sdaf

पूजा अवाना (Pooja Awana) के पिता विजय अवाना अपनी बेटी को पुलिस वर्दी में देखना चाहते थे और पूजा ने अपने पिता के सपने को पूरा कर दिखाया।

उन्‍होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी, हालांकि उनका ये सफर आसान नहीं था। 

sdfa

नोएडा के अट्टा गांव की रहने वाली पूजा अवाना (Pooja Awana) शुरुआत से ही पढ़ाई में नंबर एक आती थीं और उन्‍होंने ग्रेजुएशन के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी।

उन्‍होंने 2010 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी, हालांकि वे इसमें सफल नहीं हो सकीं, लेकिन उन्होंने तैयारी जारी रखी। 

दूसरी बार में हासिल किया मुकाम
पहले प्रयास में असफल होने के बाद उन्होंने दूसरी बार ज्यादा तैयारी के साथ परीक्षा दी और इस बार वे सफल हो गईं।

पूजा ने इस बार ऑल इंडिया में 316वीं रैंक प्राप्त की और सिर्फ 22 वर्ष की उम्र में वे आईपीएस बनने में सफल रहीं। 

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्‍मदीवारों को वह सलाह देती हैं कि असफल या अच्छे मार्क्स नहीं मिलने से वे हताश न हो।

आपको अपने टारगेट पर डटे रहना चाहिए और अपने सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत जारी रखना चाहिए। 

पूजा अवाना (Pooja Awana) की पहली पोस्टिंग पुष्कर में हुई।

इसके बाद वे विभिन्न पदों पर रहते हुए जयपुर ट्रैफिक उपायुक्त के पद तक पहुंचीं।